क्रिकेट खेल

हार्दिक पांड्या बल्ले के अलावा गेंद से भी दिखाएंगे, विरोधी होंगे बेदम

11 अक्टूबर 1993 को गुजरात में जन्मे हार्दिक पांड्या दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं और मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हैं. पांड्या तेजी से रन बनाने में माहिर माने जाते हैं. टीम के रन रेट और स्कोर को तेजी से बढ़ाने के लिए पांड्या बड़े शॉट खेलकर गेंदबाज का दबाव में ले आते हैं. पांड्या की बल्लेबाजी के बाद गेंदबाजी का डंका सबसे पहले गुजरात में उस वक्त बजा था जब उन्होंने बड़ौदा के  लिए एक मैच में सभी 10 विकेट ले लिए थे.

टीम इंडिया के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या भी इस क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा हैं. ताबड़तोड़ बल्लेबाजी और तेज गेंदबाजी के लिए चर्चित हार्दिक पांड्या टीम में ऑलराउंडर की भूमिका निभाते हैं और कई बड़े मैच में यह विपक्षी टीम के लिए सिरदर्द साबित हो चुके हैं. 25 साल के हार्दिक पांड्या ने 2016 में धर्मशाला में न्यूजीलैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच में डेब्यू किया था.

11 अक्टूबर 1993 को गुजरात में जन्मे हार्दिक पांड्या दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं और मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हैं. पांड्या तेजी से रन बनाने में माहिर माने जाते हैं. टीम के रन रेट और स्कोर को तेजी से बढ़ाने के लिए पांड्या बड़े शॉट खेलकर गेंदबाज का दबाव में ले आते हैं. पांड्या की बल्लेबाजी के बाद गेंदबाजी का डंका सबसे पहले गुजरात में उस वक्त बजा था जब उन्होंने बड़ौदा के  लिए एक मैच में सभी 10 विकेट ले लिए थे.

हार्दिक पांड्या  प्रोफाइल

1. उम्र-  25 साल

2. प्लेइंग रोल- बल्लेबाजी और गेंदबाजी (ऑलराउंडर)

3. बैटिंग –  दाहिने हाथ से बल्लेबाजी

4. ओवरऑल वनडे इंटरनेशनल में प्रदर्शन – 16 अक्टूबर 2016 को अपने अंतरराष्ट्रीय वनडे करियर की शुरुआत करने वाले हार्दिक पांड्या 45 वनडे मैच में 116 की स्ट्राइक रेट से 731 रन बना चुके हैं. पांड्या का औसत 29.24 रहा है. बल्लेबाजी में 83 रन उनका सर्वाधिक स्कोर है. वहीं बात अगर उनकी गेंदबाजी की करें तो 45 मैचों में उन्होंने 44 विकेट लिए हैं और 31 रन देकर तीन विकेट उनका बेस्ट गेंदबाजी स्कोर है. पांड्या ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. 11 टेस्ट में पांड्या ने 532 रन बनाए हैं.

5. वर्ल्ड कप- हार्दिक पांड्या का यह पहला वर्ल्ड कप टूर्नामेंट है और भारतीय टीम के मध्यक्रम को संभालने की जिम्मेदारी उन्हीं पर होगी. इसके अलावा पांड्या अपनी तेज गेंदबाजी से भी टीम को फायदा पहुंचा सकते हैं. अगर वर्ल्ड कप के मैच में पांड्या का बल्ला चल गया तो टीम इंडिया किसी भी स्कोर का पीछा करने में पूरी तरह सक्षम है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सफर- हार्दिक पांड्या का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर तीन सालों का हो गया है. इस दौरान पांड्या ने कई मैचों में टीम इंडिया को जीत दिलाई और टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी उन्हें बेहद हरफनमौला और जोशीला खिलाड़ी मानते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *