दुनिया

इमरान के सामने आतंकवाद पर PM मोदी के संदेश को ट्रंप ने बताया ‘एग्रेसिव’

सोमवार को जब न्यूयॉर्क में इमरान खान और डोनाल्ड ट्रंप की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो वहां भारत से जुड़े कई सवाल हुए. इसी दौरान जब जम्मू-कश्मीर पर मध्यस्थता का सवाल हुआ तो डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह इसके लिए तैयार हैं, लेकिन तभी जब दोनों पक्ष राजी हों.

  • डोनाल्ड ट्रंप ने की पीएम मोदी की तारीफ
  • इमरान के सामने भारत को बताया दोस्त
  • ‘हाउडी मोदी’ की स्पीच को भी बताया एग्रेसिव

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की और भारत को अपना अच्छा दोस्त बताया. जम्मू-कश्मीर के मसले पर इमरान खान ने डोनाल्ड ट्रंप से मध्यस्थता की अपील की, लेकिन ट्रंप ने कह दिया कि ये दोनों की रजामंदी से संभव होगा. इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने ‘हाउडी मोदी’ में दिए गए नरेंद्र मोदी के बयान को काफी एग्रेसिव बताया और कहा कि वहां बैठे लोगों को ये काफी पसंद आया.

दरअसल, सोमवार को जब न्यूयॉर्क में इमरान खान और डोनाल्ड ट्रंप की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो वहां भारत से जुड़े कई सवाल हुए. इसी दौरान जब जम्मू-कश्मीर पर मध्यस्थता का सवाल हुआ तो डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह इसके लिए तैयार हैं, लेकिन तभी जब दोनों पक्ष राजी हों. अभी पाकिस्तान इसके लिए तैयार है, पर जबतक भारत नहीं मानता है तो कुछ नहीं होगा.

इसी दौरान जब डोनाल्ड ट्रंप से सवाल हुआ कि जम्मू-कश्मीर पर नरेंद्र मोदी लगातार बोल रहे हैं, ऐसे में आप कल ‘हाउडी मोदी’ में उनके साथ थे. तो क्या आप उनसे सहमत हैं? इस सवाल के जवाब में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में काफी एग्रेसिव बयान दिए गए, प्रधानमंत्री ने भी काफी आक्रामक बयान दिया.

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मुझे उम्मीद नहीं थी कि इस तरह का बयान आएगा, लेकिन मैं वहां बैठा था और जब वो बयान आया तो मैदान में बैठे लोग काफी उत्साहित थे. वहां करीब 59 हजार लोग थे, जो उस बयान से सहमत लग रहे थे. लेकिन ये मानना होगा कि प्रधानमंत्री का बयान काफी आक्रामक था, उन्हें उम्मीद है कि दोनों देश जल्द ही आपस में बात करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा था?

दरअसल, ह्यूस्टन में हुए हाउडी मोदी कार्यक्रम में जब नरेंद्र मोदी भाषण दे रहे थे, तो उन्होंने अनुच्छेद 370 का जिक्र किया और कहा कि भारत जिसके लिए 70 साल से इंतजार कर रहा था उस अनुच्छेद 370 को हमने जम्मू-कश्मीर से फेयरवेल दे दिया. लेकिन इस फैसले से कुछ लोगों को दिक्कत हो रही है, कुछ देश इसपर बयानबाजी कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं, जिनसे अपना देश नहीं संभल रहा है वह अनुच्छेद 370 पर बोल रहे हैं. ऐसे लोगों ने भारत के खिलाफ नफरत को ही अपनी राजनीति बना लिया है.

पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा था, ‘’ये वो लोग हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक हैं और आतंक को पालते-पोसते हैं. उनकी पहचान सिर्फ आप ही नहीं, पूरी दुनिया अच्छे से जानती है. अमेरिका में 9/11 हो या मुंबई में 26/11 हो उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते हैं? अब समय आ गया है कि आतंकवाद और उसे बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए.’

डोनाल्ड ट्रंप ने इसी भाषण का इस्तेमाल किया और इसे आक्रामक बताया. हालांकि, डोनाल्ड ट्रंप ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारत की तारीफ की और कहा कि भारत-अमेरिका के संबंध काफी अच्छे हैं. इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब पाकिस्तान के एक पत्रकार ने कश्मीर पर सवाल किया तो डोनाल्ड ट्रंप ने उसकी भी चुटकी ले ली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *