खाना राजनीति

BJP के हुए सनी देओल तो गदर के निर्देशक ने कहा- ’56 इंच था ही, अब 62 इंच भी आ गया’

सनी देओल के भारतीय जनता पार्टी जॉइन करने की खबर आते ही फिल्ममेकर अनिल शर्मा ने ट्विटर पर एक दिलचस्प ट्वीट किया. अनिल शर्मा के निर्देशन में सनी देओल गदर: एक प्रेम कथा में काम कर चुके हैं.

मंगलवार को राजनीतिक दंगल में उतरने वाले सितारों की लिस्ट में एक और नाम जुड़ गया है. यह नाम है ढाई किलो का हाथ और 62 इंच का सीना रखने वाले बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल का. सनी देओल के भारतीय जनता पार्टी जॉइन करने की खबर आते ही फिल्ममेकर अनिल शर्मा ने ट्विटर पर एक दिलचस्प ट्वीट किया. अनिल शर्मा के निर्देशन में सनी देओल गदर: एक प्रेम कथा में काम कर चुके हैं.

अनिल शर्मा ने सनी देओल के साथ की अपनी एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “56 इंच का सीना तो था अब 62 इंच का भी आ गया. बधाई हो मेरे फेवरेट सनी देओल भाजपा जॉइन करने के लिए.” सनी देओल पिछले साल रिलीज हुई फिल्म भैयाजी सुपरहिट में काम करते नजर आए थे. हालांकि इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाई नहीं की.

कैसा है जनता का रिएक्शन?

सनी देओल के पॉलिटिक्स जॉइन करने से जहां अनिल शर्मा काफी उत्सुक लग रहे हैं वहीं ऐसा लगता है कि कुछ फैन्स इससे खास प्रभावित नहीं हैं. अनिल के ट्वीट पर यूजर्स का ज्यादातर रिएक्शन निगेटिव ही नजर आया. एक यूजर ने लिखा यह सनी देओल के द्वारा लिया गया सबसे वाहियात फैसला है.

क्या गलत है सनी देओल का फैसला?

एक अन्य यूजर ने लिखा, “अनिल यह सनी पाजी के द्वारा लिया गया सबसे गलत फैसला है. शायद ऐसा पहली बार होगा कि पूरा पंजाब सनी देओल को सपोर्ट नहीं करेगा.” एक यूजर ने लिखा कि राजनीति इनके बस की बात नहीं है. इसी तरह ऐसे तमाम ट्वीट हैं जिनमें सनी देओल के फैसले को गलत बताया गया है.

अनिल और सनी देओल की जोड़ी:

सनी देओल, अनिल शर्मा की फिल्म गदर एक प्रेम कथा में साल 2001 में नजर आए थे. फिल्म में सनी देओल ने तारा सिंह का रोल प्ले किया था. यह फिल्म उस साल की ब्लॉकबस्टर हिट साबित हुई थी. फिल्म में सनी के अपोजिट अमीषा पटेल थीं. फिल्म को IIFA बेस्ट एक्टर अवॉर्ड, Zee Cine Award बेस्ट मेल एक्टर, Star Screen Award बेस्ट एक्टर, Zee Cine Special Award शानदार बेस्ट मेल परफॉर्मर, Choice Movie Awards जैसे कई अवॉर्ड मिले थे. इस फिल्म के लिए सनी देओल को कई अवॉर्ड मिले और यह उनकी करियर की सबसे बड़ी हिट साबित हुई. फिल्म की कहानी सिख मुस्लिम प्रेम पर आधारित थी जो पाकिस्तान तक पहुंचती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *